1

Bulati Hai Magar Jaane Ka Nahi

Best Rahat Indori Shayari

Best Rahat Indori Shayari

चेहरों के लिए आईने कुर्बान किये है,

इस शौक में अपने बड़े नुकशान किये है,

महफ़िल में मुझे देकर गालियां है बहुत खुश,

जिस शख्स पर मैंने बड़े एहसान किये है ।।।।

Chehre Ke Liye Aayine Kurban Kiye Hai,

Is Shauk Me Apne Bade Nukshan Kiye Hai,

Mehfil Me Mujhe Dekar Galiyan Hai Bahut Khush,

Jis Shakhs Par Maine Bade Enhsaan Kiye Hai ….



Mujhse Pehle Wo Kisi Aur Ki Thi..

मुझसे पहले वो  किसी और की थी,

मगर कुछ शायराना चाहिए था,

चलो माना ये छोटी बात है,

पर तुम्हे सब कुछ बताना चाहिए था ।।।।

Mujhse Pehle Wo Kisi Aur Ki Thi,

Magar Kuch Shayrana Chahiye Tha,

Chalo Mana Ye Choti Baat Hai,

Par Tumhe Sab Kuch Batana Chahiye Tha ….

Best Rahat Indori Best Shayari On Love And Dosti With Images

Last Rahat Indori Sad- Romantic- Dosti Par Shayari In Hindi With Images



Bahut Gurur Hai Dariya

बहुत गुरुर है दरिया को अपने होने पर,

जोमेरी प्यास से उलझे तो धज्जिया उड़ जाए ।।।।

Bahut Gurur Hai Dariya Ko Apne Hone Par,

Jo Meri Pyas Se Uljhe To Dhajjiya Udh Jaye ….



रोज तारों को नुमाइश में खलल पड़ता है,

चाँद पागल है अँधेरे में निकल पड़ता है ।।।।

Roj Taro Ko Numaish Me Khalal Padta Hai,

Chand Pagal Hai Andhere Me Nikal Padta Hai ….



Best Rahat Indori Shayari On Love

मैं आखिर कौन सा मौसम तुम्हारे नाम कर देता,

यहाँ हर एक मौसम को गुजर जाने की जल्दी हैं ।।।।

Main Akhir Kaun Sa Mausam Tumhare Naam Kar Deta,

Yaha Har Ek Mausam Ko Gujar Jane Ki Jaldi Hain ….



अपने हाकिम की फकीरी पे तरस आता है,

जो गरीबो से पसीने की कमाई मांगे ।।।।

Apne Hakim Ki Fakiri Pe Taras Aata Hai,

Jo Gareebo Se Pasine Ki Kamayi Mange ….



Rahat Indori Shayari On Dosti In Hindi

अब ना मैं हूँ, न बाकि है ज़माने मेरे,

फिर भी मशहूर है शहरों में फ़साने मेरे,

ज़िन्दगी है तो नए ज़ख्म भी लग जायेंगे,

अब भी बाकि है कई दोस्त पुराने मेरे ।।।।

Ab Na Main Hun Na Baki Hai Jamane Mere,

Fir Bhi Mashur Hai Sahron Me Fasane Mere,

Zindagi Hai To Naye Jakhm Bhi Lag Jayenge,

Ab Bhi Baki Hai Kayi Dost Purane Mere ….



हाथ खाली है तेरे शहर से जाते जाते,

जान होती तोह मेरी जान लुटाते जाते,

अब तो हर हाथ के पत्थर हमे जानते हैं,

उम्र गुजरी है तेरे शहर में आते जाते ।।।।

Hath Khali Hai Tere Shahar Se Jate Jate,

Jaan Hoti Toh Meri Jaan Lutate Jate,

Ab To Har Hath Ke Patthar Hume Jante Hai,

Umar Gujari Hai Tere Shahar Me Aate Jate ….



Mohabbat Rahat Indori Shayari In Hindi

तेरी हर बात मोहब्बत में गवारा करके,

दिल के बाजार में बैठे है ख़सारा करके,

मैं वह दरिया हूँ की हर बूँद भंवर है जिसकी,

तुमने अच्छा ही किया है मुझे किनारा करके ।।।।

Teri Har Baat Mohabbat Me Ganwara Karke,

Dil Ke Bazar Me Baithe Hai Khasara Karke,

Me Woh Dariyan Hun Ki Har Boond Bhanwar Hai Jiski,

Tumne Achha Hi Kiya Hai Mujhe Kinnara Karke ….



Inspirational Quotes Of Rahat Indori In Hindi And English

आँखों में पानी रखो होंठो पे चिंगारी रखो,

ज़िंदा रहना है तो तरकीबें बहुत सारी रखो,

एक ही नदी के हैं यह दो किनारे दोस्तों,

दोस्ताना ज़िन्दगी से मौत से यारी रखो ।।।।

Aankho Me Pani Rakho Hontho Pe Chingari Rakho,

Zinda Rehna Hai To Tarkiben Bahut Sari Rakho,

Ek Hi Nadi Ke Hai Yeh Do Kinare Doston,

Dostana Zindagi Se Maut Se Yaari Rakho ….



कभी महक की तरह हम गुलो में उड़ते है,

कभी धुएं की तरह पर्वत से उड़ते है,

ये किचियाँ हमे उड़ने से खाक रोकेंगी,

की हम पारो से नहीं हौसलों से उड़ते हैं ।।।।

Kabhi Mehak Ki Tarah Hum Gulo Me Udte Hai,

Kabhi Dhuye Ki Tarah Parvat Se Udte Hai,

Ye Kichiyan Hume Udne Se Khaak Rokengi,

Ki Hum Paro Se Nahi Hauslo Se Udte Hain ….



हर एक हर्फ़ का अंदाज़ बदल रखा है,

आज से हमने तेरा नाम गजल रखा है,

मैंने शाहों की मोहब्बत का भ्रम तोड़ दिया,

मेरे कमरे में भी एक ताजमहल रखा है ।।।।

Har Ek Harf Ka Andaz Badal Rakha Hai,

Aaj Se Humne Tera Naam Gajal Rakha Hai,

Maine Shanho Ki Mohabbat Ka Bhram Tod Diya,

Mere Kamre Me Bhi Ek Tajmahal Rakha Hai ….



Best Rahat Indori Shayari On Life In English

नए सफर का नया इंतजाम कह देंगे,

हवा को धुप चिरागो को शाम कह देंगे,

किसी से हाथ भी धो कर मिलाइए,

वार्ना इसे भी मौलवी साहब हराम कर देंगे ।।।।

Naye Safar Ka Naya Intejam Keh Denge,

Hawa Ko Dhoop Chirago Ko Sham Keh Denge,

Kisi Se Hath Bhi Dhoo Kar Milaiye,

Varna Ise Bhi Maulvi Sahab Haram Kar Denge ….



Jawan Aanko Ke Jugnu

जवान आँखों के जुगनू चमक रहे होंगे,

अब अपने गाँव में अमरुद पाक रहे होंगे,

भुलादे मुझको मगर, मेरी उँगलियों के निशान,

तेरे बदन पे अभी तक चमक रहे होंगे ।।।।

Jawan Aanko Ke Jugnu Chamak Rahe Honge,

Ab Apne Gaaon Me Amrud Pak Rahe Honge,

Bhulade Mujhko Magar Meri Ungliyo Ke Nishan,

Tere Badan Pe Abhi Tak Chamak Rahe Honge ….



Ajeeb Log Hai Meri Talash

अजीब लोह है मेरी तलाश में मुझको,

वहां पर ढूंढ रहे है जहाँ नहीं हूँ मैं,

मैं आईनो से तोह मायूस लौट आया हूँ,

मगर किसी ने बताया बहुत हसीन हूँ मैं ।।।।

Ajeeb Log Hai Meri Talash Me Mujhko,

Wahan Par Dhund Rahe Hai Jaha Nahi Hun Main,

Main Aayino Se Toh Mayus Laut Aya Hun,

Magar Kisi Ne Bataya Bahut Hansin Hun Mein ….



अजनबी ख्वाहिशें सीने में दबा भी ना सकूँ,

ऐसे ज़िद्दी है परिंदे के उड़ा भी ना सकूँ,

फूंक डालूंगा किसी रोज मैं दिल की दुनिया,

यह तेरा खत तो नहीं की जला भी ना सकूँ ।।।।

Ajnabi Khwahishen Seene Me Daba Bhi Na Sakun,

Aise Jiddi Hai Parinde Ke Udda Bhi Na Sakun,

Foonk Dalunga Kisi Roj Main Dil Ki Duniya,

Yeh Tera Khat To Nahi Ki Jala Bhi Na Sakun ….



कही बेहतर है तेरी अमीरी से मुल्फिसि मेरी,

चंद सिक्कों की खातिर तूने क्या नहीं खोया है,

माना नहीं है मखमल का बिछौना मेरे पास,

पर तू यह बता कितनी रातें चैन से सोया है ।।।।

Kahi Behtar Hai Teri Ameeri Se Mulfisi Meri,

Chand Sikkon Ki Khatir Tune Kya Nahi Khoya Hai,

Mana Nahi Hai Makhmal Ka Bichauna Mere Paas,

Par Tu Yeh Bata Kitni Raaten Chain Se Soya Hai ….



Best Rahat Indori Shayari

इश्क़ ने गुथे थे जो गजरे नुकीले हो गए,

तेरे हाथों में तो ये कंगन भी ढीले हो गए,

फूल बेचारे अकेले रह गए है शाक पर,

गाँव की सब तितलियाँ के हाथ पिले हो गए ।।।।

Ishq Ne Guthe The Jo Gajre Nukile Ho Gaye,

Tere Hantho Me To Ye Kangan Dheele Ho Gaye,

Phul Bechare Akele Reh Gaye Hai Shakh Par,

Gaon Ki Sab Titliyan Ke Hath Peele Ho Gaye ….



सरहदों पर तनाव है क्या,

ज़रा पता करो चुनाव है क्या,

शहरों में तो बारूद का मौसम है,

गाँव चलो अमरुद का मौसम है ।।।।

Sarhado Par Tanav Hai Kya,

Zara Pata Karo Chunav Hai Kya,

Shahro Me To Barood Ka Mausam Hai,

Gaaon Chalo Amrud Ka Mausam Hai ….



ये सहारा जो ना हो तो परेशां हो जाए,

मुश्किलें जान ही लेले अगर आसान हो जाए,

ये कुछ लोग फ़रिश्ते से बने फिरते है,

मेरे हत्थे कभी चढ़ गए तो इंसान हो जाए ।।।।

Ye Sahara Jo Na Ho To Pareshan Ho Jaye,

Mushkile Jaan Hi Lele Agar Asaan Ho Jaye,

Ye Kuch Log Farishte Se Bane Firte Hain,

Mere Hatthe Kabhi Chadh Gaye To Insan Ho Jaye ….



Juban To Khol Nazar To

जुबां तो खोल नज़र तो मिला जवाब तो दे,

मैं कितनी बार लुटा हूँ मुझे हिसाब तो दे,

तेरे बदन की लिखावट में है उतार चढ़ाव,

मैं तुझको कैसे पढूंगा मुझे किताब तो दे ।।।।

Juban To Khol Nazar To Mila Jawab To De,

Me Kitni Baar Lutta Hub Mujhe Hisab To De,

Tere Badan Ki Likhawat Me Hai Uttar Chadav,

Main Tujhe Kaise Padunga Mujhe Kitab To De ….



Rahat Indori Poems In Hindi And English

सफर की हद है वह तक की कुछ निशान रहे,

चले चलो की जहाँ तक ये आसमाँन रहे,

ये क्या उठाये कदम और आ गयी मंज़िल,

मज़ा तो तब है की पैरो में कुछ थकन रहे ।।।।

Safar Ki Had Hai Waha Tak Ki Kuch Nishan Rahe,

Chale Chalo Ki Jahan Tak Ye Aasman Rahe,

Ye Kya Uthaye Kadam Aur Aa Gayi Manzil,

Maza To Tab Hai Ki Pairo Me Kuch Thakan Rahe ….



Ishq Khata Hai To Ye Khata

तूफान से आँख मिलाओ सैलाबों पे वॉर करो,

मल्लाहो का चक्कर छोड़ो तैर कर दरिया पार करो,

फूलो की दुकान खोलो खुशबु का व्यापर करो,

इश्क़ खता है तो ये खता एक बार नहीं सौ बार करो ।।।।

Tufan Se Aankh Milao Sailabo Pe War Karo,

Mallaho Ka Chakkar Chodo Tair Kar Dariya Par Karo,

Phulo Ki Dukan Kholo Khushbu Ka Vyapar Karo,

Ishq Khata Hai To Ye Khata Ek Bar Nahi Sau Bar Karo ….



Bulati Hai Magar Jaane Ka Nahi Shayari

बुलाती है मगर जाने का नहीं,
ये दुनिया है इधर जाने का नहीं,

मेरे बेटे किसी से इश्क़ कर,
मगर हद से गुज़र जाने का नहीं,

ज़मीं भी सर पे रखनी हो तो रखो,
चले हो तो ठहर जाने का नहीं,

सितारे नोच कर ले जाऊंगा,
मैं खाली हाथ घर जाने का नहीं,

वबा फैली हुई है हर तरफ,
अभी माहौल मर जाने का नहीं,

वो गर्दन नापता है नाप ले,
मगर जालिम से डर जाने का नहीं ।।।।

Bulati Hai Magar Jaane Ka Nahi Image

Bulati Hai Magar Jaane Ka Nahi Shayari With Image

Rahat Indori Best Shayari Bulati Hai Magar In Hindi With Image

 

Bulati Hai Magar Jaane Ka Nahi,

Yeh Duniya Hai Idhar Jaane Ka Nahi

 

Mere Bete Kisi Se Ishq Kar,

Magar Hadd Se Gujar Jaane Ka Nahi,

 

Jamin Bhi Sar Par Rakhni Ho To Rakho,

Chale Ho To Thaher Jaane Ka Nahi,

 

Sitaren Noch Kar Le Jaunga,

Magar Khali Hath Ghar Jaane Ka Nahi,

 

Vaba Faily Hui Hai Har Taraf,

Abhi Mauhal Marr Jaane Ka Nahi,

 

Wo Gardan Napta Hai Naap Le,

Magar Jalim Se Darr Jane Ka Nahi ….



 

shayrilife1@gmail.com

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *